नई दिल्ली, जेएनएन। CCTV Camera: लोक निर्माण मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा है कि दिल्ली दुनिया का पहला शहर है जहां इतनी बड़ी संख्या में सीसीटीवी कैमरे सरकारी तौर पर लगाए जा रहे हैं। इससे पहले लंदन में सरकारी तौर पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए थे, मगर उनकी संख्या बहुत कम है, वह भी कई साल में लगाए गए। जैन दिल्ली विधानसभा में सरकार की सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की योजना पर सत्ता पक्ष द्वारा कराई गई चर्चा पर बोल रहे थे।

पूरी राजधानी में 2.80 लाख कैमरे लग रहे
जैन ने कहा कि दिल्ली सरकार ने पूरी राजधानी में 2.80 लाख सीसीटीवी कैमरे लगवाने की दिशा में कदम बढ़ा दिया है। पहले फेज में 1.40 लाख सीसीटीवी लगाए जा रहे हैं और सोमवार को दूसरे फेज में अतिरिक्त 1.40 लाख सीसीटीवी कैमरों के लिए सरकार ने निविदा जारी कर दी है।

एक साल में लगेंगे सभी कैमरे
निविदा जारी होने के एक साल के भीतर सभी कैमरे लग जाएंगे। इसके बाद पूरी दुनिया में पहली बार किसी शहर पर इतने बड़े पैमाने पर सीसीटीवी से नजर रखी जा सकेगी। चर्चा में हिस्सा लेते हुए मंत्री जैन ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे में लगने वाली बिजली का खर्च दिल्ली सरकार देगी। फिलहाल जिस तरह के कैमरे लगाए जा रहे हैं, उसमें एक कैमरे में प्रतिमाह 6 यूनिट बिजली खर्च होगी। वहीं, सीसीटीवी के एक पैनल पर 20 यूनिट का खर्चा आएगा। एक पैनल से चार सीसीटीवी कैमरे जुड़े होंगे।

विधायकों ने दिया सरकार को धन्यवाद
अल्पकालिक चर्चा की शुरुआत करते हुए विधायक जरनैल सिंह ने दिल्ली सरकार को इस महत्वाकांक्षी योजना के लिए बधाई दी। साथ ही उम्मीद जताई कि कैमरों के लगने से दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता होगी। दूसरे विधायकों में अखिलेश पति त्रिपाठी, मदन लाल, भावना गौड़, सोमनाथ भारती आदि ने भी अपने विचार रखे।

Source: Jagran.com

Add Your Comment